देश महान

जय जय तेरी हिन्दोस्तान । विश्व गुरु मेरे देश महान ।

 

आज देख तेरा हाल हुआ          बड़े २ अमरिका जाते।
जिनको वीजा मिल ना पाता ट्रम्प प्रभू गुहार लगाते ।
सबकी वहाँ होय आवभगत घंटो अड्डे पर मिमयाते ।
धरी रहें सब वी आइ पन खोल खोल कपड़े मुस्काते ।
स्वर्ग इसी को माने बैठे      धन्य धन्य तेरी संतान ।
ज य जय जय तेरी हिन्दोस्तान ।
विश्व गुरु  मेरे    देश       महान । ——————————–[ १ ]

 

घर मैं जो गाली दें तुझको ,
वहाँ जाकर वे भी मिमयाते ।
आकान कौ कछु जोर चले न ,
छोड़ हेकड़ी फिर वे घिघयाते ।
अमरीका अधिकारी राष्ट्र धरम ,
का उन्हें पाठ पढ़ाते ।
राष्ट्र धरम तौ सबसे ऊपर हो हिन्दू या मुसलमान
ज य जय जय तेरी हिन्दोस्तान ।
विश्व गुरु मेरे देश महान । —————————————-[ २ ]

 

वोटों की अंतिम आशा दंगे जन जन से करवाता ।
जिन का काम है पालन करना वो ही आग लगाता ।
महान देश का चालू नेता अपना आकार बढाता ।

नहीं यहाँ जानों की कीमत वोट मैं केवल जान ।
जय जय जय तेरी हिन्दोस्तान ।

विश्व गुरु मेरे देश महान । ——–[ ३ ]
पहन पहन कर धवल वस्त्र कीचड़ उछालने मैं माहिर।
सभी तरफ है घोर निराशा सभी ओर गन्दा सागर।
मंथन करो समय आने पर जाति पांति और धर्म छोडकर।
राजा चुनो देख परख कर वोटों का हथियार संजोकर।
सेवा करे आम बनकर जो ऱाष्ट्र धर्म अपनाकर ।
वरना चुनो दुसरे को लायक हो वोट डलवाकर ।
दल को छोड़ चरित्र को परखो
वोट से ले लो इम्तिहान ।
जय जय जय तेरी हिन्दोस्तान ।
विश्व गुरु मेरे देश महान । ————————————–[ ४ ]

 

विश्व गुरु की देख दुर्गति सिहर सिहर हम जाते हैं।
पासंग नहीं हम अमेरिका के इस लिए वहाँ हम जाते हैं।
कब कोई नर पैदा होगा बदले इन हालतों को ।
साध्य भी अपने साधन अपने करै देश की बातों को।
सबको आदर देते आये क्यों निरादर करवाएंगे।
कहै शेर सा नहीं कहीं भी बिना बुलाये हम जायेंगे ।
अपनी और मुल्क अपने की बेइज्जती नहीं करायेंगे।
मान बढ़ावैं पुन : मुल्क का ,
फिर से वही पहचान ।
जय जय जय तेरी हिन्दोस्तान ।
विश्व गुरु मेरे देश महान । ————————————–[5  ]

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *