धन तेरस शुभकामना

धनवान नहीं  धन कामी हूँ कामना धन मन रखता हूँ । धन तेरस हर बार मनाता हूँ मांग सपर्पित  करता हूँ । कर्ज बहुत है मर्ज बहुत  धन देवी सुमरण करता हूँ । मेरा मेरे देश देश जन में   सबकी   अर्जी रखता हुँ । मालदार हों सकल नागरिक माला चरणों …