स्वतंत्रता पर्व पंद्रह अगस्त

पंद्रह अगस्त २०१५  रामगोपाल सिनसिनवार    आओ  ,हिल , मिल , सब              हर्ष , मनाएँ  / पावन पर्व ,स्वतंत्रता को, समझें ,और समझाएँ / स्वतंत्रता ,अर्थ नहीं    ,             हम ,    अधिकारों ,का दमन करें / स्वतंत्रता …

हिन्दी हिन्दुस्तान

हिन्दी हिन्दुस्तान पखवाडौ ,हिंदी, मनैं ,” गुपाल ” गाथा, , गॉय । दै ,विसार, फिर ,साल ,भर ,बैठै ,मौज ,मनॉंय । बैठै, मौज, मनॉंय , देख ,कें ,अग्रेजी, मूवी । बहस ,होय ,अंग्रेजी, में, सब, नेतान, की, खूबी । अग्रेजी, में, जगें ,सोय ,रहै, अंग्रेजी, में । अंग्रेजी ,में, नमन …

वंदनीय भारत भूमि

       वंदनीय     भारत भूमि  शश्यश्यामला भारत भूमी                 ,  अनुपम  छटा मनोहर । उन्नत शैल  शिखर मनमोहक          , कल कल झरते निर्झर   । आँख मिचौली करतीं सलिला          ,   पुलकित करती जीवन  । संपूरण    धन …