सद्गुरु वंदन स्तुति महिमा

                                        [ १ ]   प्रनामि गुरू  प्रणाम  प्रभु ,   नमामि गुरु     नमन प्रभू    । स्मरामि गुरू स्मरण प्रभू    ,भजामि गुरू      भजन प्रभू     । पूजा गुरू  …

धनदेवी महालक्ष्मी वंदना

 [ १ ]             जय समुद्रजा   जय  कमलनैनी , जय  विष्णुप्रिया  चंद्राननी ।            मायाप्रदाती      सुख प्रदाती ,   जय जगत नारायण  ,संगिनी ।  धन ईश  जय   बैभव प्रदाती  ,    जय   सुयश   प्रदाती पदिमिनी।         तम …

गोपाल बजरंग वंदना

  अष्ट सिद्धि नवनिध  जग दाता   जय हो जय हो तेरी          । फाल्गुन सखा गुपाल  सहारे      भर दो  झोली  मेरी          ।   गद्य अर्थ :—-   हे मनुष्य को सभी आठ   सिद्धियां अणिमा  महिमा गरिमा लघिमा  प्राप्ति पराक्रम्य  इसतव  वसित्व तथा नौनिधियों हादी कादी वायुमन सिद्धि मदलसा कनकधर  प्रक्य साधना  सूर्यविज्ञान  विद्या प्रदान …

गोपाल खाटू श्याम  वंदना

 गोपाल खाटू श्याम  वंदन         [ १ ]         महादानी  महादयालु     आन बान पहचान।       खड़ा  द्वार तेरे प्रभू      आशा मैं  वरदान  । आशा मैं  वरदान    हार कर    ,     स्मृति प्रभू यदुवर की । सभा सन्न …

— गोपाल माँ सरस्व्ती वन्दना :——

         [   स्तुति १ ] अनुकंपा  मातेस्वरी        ,    धरौं   तुम्हारौ        ध्यान  ।    सदविचार   सदभावना   ,   हो     हिरदय     सदग्यान   ।    हिरदय में सद्ज्ञान सरन जग      , लीनी मात      तुम्हारी  ।  वीणावादिन हंसवाहिनी          …

गोपाल गणेश वंदना

महामहेश्वर गणेश्वर  , बिघ्न बिनाशन हार । सेवक सेवा चरन प्रभु  ,आयौ तेरे द्वार       ।   आयौ तेरे द्वार   सुरेश्वर        , भंजन दुःख   सुखदाता     । एकदंत प्रथमेश    कवीश्वर       ,        बुद्धि ज्ञान परिचाता  । कुंजर मुख   लम्बोदर   झाँकी ,      मोहक दरश बिधाता   । पृथ्वी …

गोपाल माता दुर्गा देवी स्तुति

माला   सोहै     केहरी  ,      ठाड़ी पृष्ठ सहार     ।     अदभुत मुद्रा मोहनी  ,      महिमा   अपरम्पार    ।       महिमा अपरम्पार शक्ति मां ,     प्रभापुंज   मन   मोहे     ।    अष्ट भुजा धारी छबि निरखौ      सुख सागर  जग भोहे    ।    धनुष बाण गद …

गोपाल महादेव शंकर

     ऊॅ त्रयम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।  उव्र्वारूकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्।। स्तुति कैलाशी  कैलाश  गिरि           ,   आसन दीन  जमाय    । डमरू      बजै    त्रिशूल पै      , बैठे      ध्यान    लगाय    । बैठे ध्यान लगाय सामने   बैठे      ,  …